पहला पन्ना / टांगराईन गाँव और विद्यालय – एक परिचय

 

हमारा भारत गाँवों में बसता है। टांगराईन गाँव भारत के झारखण्ड राज्य अंतर्गत झारखंड के पश्चिमी छोर पर ओड़िशा की सीमा के समीप अवस्थित है। इसके उत्तर में एक विशाल खेती योग्य जमीन के बाद दामुडीह गाँव स्थित है, एवं दक्षिण में प्राकृतिक धरोहर वंका पहाड़ स्थित है।

इसके पूर्व में एक विशाल जलाशय के बाद जोजोडीह ग्राम तथा पश्चिम में कलकल ध्वनि के साथ गुनगुनाते एक झरने के बाद कोपे ग्राम स्थित है।

इस गाँव के नामकरण के पीछे की एक पौराणिक कहानी यह है कि ”टेंगरा’ शब्द से ही इस गाँव का नाम टांगराईन पड़ा। टाँगराईन गाँव में 2 टोले, पहला ढाँवनाटांड़ एवं दूसरा शबरनगर हैं।

इस गाँव को यदि एक वृत समझा जाए तो इसका व्यास 2 किलोमीटर होगा।

यहाँ संथाल, कुम्हार, मंडला, तांती, मुंडा, भूमिज, खंडवाल, कर्मकार, मुस्लिम समुदायों एवं आदिम जनजाति ‘शबर’ समुदाय के लोग वास करते हैं। गाँव के बुजुर्गों का कहना है कि गाँव के पूर्वजों ने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। इस गाँव के लोगों का मुख्य पेशा है धान की खेती करना एवं मजदूरी करना। कुम्हार समुदाय के कुछ परिवार मिट्टी के बर्तन बनाने के काम से जुड़े हैं। टोले को मिलाकर इस गाँव की कुल जनसंख्या 1900 के आस-पास है।

गाँव के मुख्य उत्सव हैं मकर परब, वादना परब, डाक परब, सरहुल, माघे आदि। गाँव के पूर्व में एक जाहेर थान है, जहाँ विशेषकर संथाल समुदाय के लोग पूजा-अर्चना करते हैं। वंका पहाड़ के ऊपर वंका देवता की पूजा (जंताल पूजा) वर्ष में एक बार की जाती है।

गाँव के पश्चिम में गोराम थान एवं मध्य में शिव तथा मनसा माता का सार्वजनिक मंदिर भी स्थित है। गाँव के बाहर एक किलोमीटर की दूरी पर उत्क्रमित मध्य विद्यालय एवं आँगनवाड़ी केन्द्र स्थित है। विद्यालय में पाँच शिक्षक एवं आंगनवाड़ी केन्द्र में एक सेविका व एक सहायक कार्यरत है।

उत्क्रमित मध्य विद्यालय के बच्चों में से कई ने इंजीनियर, डॉक्टर, पत्रकार, शिक्षक आदि पेशे से जुड़कर सफलता हासिल की है। गाँवके बीचोंबीच संचार के माध्यम के रूप में एक डाकघर अवस्थित है, जिसमें दो कर्मचारी कार्यरत हैं। गाँव के अधिकांश मकान कच्चे ही हैं।

टाँगराईन गाँव की स्थिति अत्यंत दयनीय है, चाहे वह शिक्षा की दृष्टि से हो या फिर आर्थिक दृष्टि से, स्वच्छता के नजरिए से हो या फिर चिकित्सा की दृष्टि से। इस गाँव को सर्वांगीण विकास की काफी जरूरत है।

 
 
 
%d bloggers like this: