पहला पन्ना / खबरें / गतिविधियाँ / टांगराईन स्कूल के बच्चों को ज्वेलरी मेकिंग प्रशिक्षण

 

टांगराईन, पोटका (जमशेदपुर), 12 दिसंबर, 2017: उत्क्रमित मध्य विद्यालय, टांगराईन में आज बच्चों को ज्वेलरी मेकिंग का प्रशिक्षण दिया गया। इस दौरान उन्हें मोतियों से गहने बनाने की कला सिखायी गयी। बच्चों को यह प्रशिक्षण युवा की सुश्री उषा देवगम ने दिया।

ज्वेलरी बनाने का प्रशिक्षण टांगराईन स्कूल की बालिकाओं के लिए।
ज्वेलरी बनाने का प्रशिक्षण टांगराईन स्कूल की बालिकाओं के लिए।

इस प्रशिक्षण में गांव की वैसी लड़कियां भी शामिल हुईं,जिन्होंने पढ़ाई छोड दी है। प्रधानाध्यापक अरविंद तिवारी ने बताया कि बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ आत्मनिर्भर बनाने के लिए भी विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाये जायेंगे जैसे मशरुम उत्पादन, पेपर बैग निर्माण, अजोला उत्पादन, किचन गार्डेन आदि।

उन्होंने कहा कि शिक्षा समाज से अलग-थलग रहकर अर्जित की जानेवाली कोई प्रक्रिया नहीं है। यदि समाज में बेरोजगारी, गरीबी और सामाजिक बुराइयाँ हर जगह व्याप्त हों, तो हम उसी समुदाय या समाज के बीच रहनेवाले बच्चों से शिक्षा के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद नहीं कर सकते।

ज्वेलरी बनाने का प्रशिक्षण टांगराईन स्कूल की बालिकाओं के लिए।
ज्वेलरी बनाने का प्रशिक्षण टांगराईन स्कूल की बालिकाओं के लिए।

उन्होंने शिक्षा के सरोकार का एक कोण व्यावहारिकता से भी जुड़ा है। यदि बच्चे आत्मनिर्भर नहीं बन पाएँगे तो उनकी शिक्षा एककोणीय रह जाएगी।

उन्होंने कहा कि बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए यह जरूरी है कि वे यह जानें कि आजीविका अर्जित करने हेतु केवल कृषि, या मजदूरी, ही नहीं बल्कि कई और अच्छे विकल्प भी उपलब्ध हैं।

उन्होंने कहा कि बालिकाओं का सशक्तीकरण पूरे समाज के लिए सबसे जरूरी है और यह आवश्यक है कि वे आत्मनिर्भर बनना सीखें और जीवन में उपलब्ध विभिन्न विकल्पों के बारे में जानें-समझें।

वीडियो यहाँ देखा जा सकता है।

 

 
 
 
%d bloggers like this: