पहला पन्ना / खबरें / गतिविधियाँ / अरविंद सर की मोबाइल लाइब्रेरी से बढ़ रही है पढ़ने की रुचि

 

टांगराईन: कोरोना काल में भी अरविंद सर की मोबाइल लाइब्रेरी ने टांगराइन के बच्चों की पढ़ाई जारी रखी है।

उत्क्रमित मध्य विद्यालय टांगराइन के प्रधानाध्यापक अरविंद तिवारी जब भी क्षेत्र में भ्रमण पर निकलते हैं तो उनके साथ एक बैग होता है, जिसमें होती है ढेर सारी किताबें, रंगीन पत्रिकाएं, कहानी की किताबें, रंग करने के लिए पेंसिल, कॉपी, ड्राइंग शीट।

शिक्षक गांव में गली गली घूम कर बच्चों से बात करते हैं। उन्हें पढ़ने के लिए कहानी की किताबें देते हैं। जरूरत पड़ने पर उन्हें कॉपी, पेन, चित्र बनाने के लिए आवश्यक सामग्री भी देते हैं। कभी साथ बैठकर कहानी सुनाते हैं, तो कभी साथ बैठकर गणित की समस्याएं बच्चों के साथ सुलझाते हैं।

मोबाइल लाइब्रेरी

इस तरह बच्चों के साथ कोरोना काल में भी बच्चों को पढ़ाई से जोड़े रखने में कामयाब हुए हैं अरविंद तिवारी।

लगातार अपनी नई पहल से समाज में शिक्षा की लौ जलाए हुए हैं अरविंद कुमार तिवारी ने बताया कि स्कूल जल्द से जल्द खुलने चाहिए स्कूलों के बंद होने से बच्चों की पढ़ाई बाधित हुई है। ऑनलाइन पढ़ाई हाथी का दांत है यह सिर्फ दिखावे के लिए है इससे बच्चों ने ज्ञान की वृद्धि नहीं हो रही है खासकर गरीब बच्चों में हमारे पोषण क्षेत्र में अधिकांश बच्चों के पास मोबाइल नहीं है इसलिए उन्हें ऑफलाइन ही पढ़ाना ज्यादा बेहतर है।

बच्चे बताते हैं कि अरविंद सर हमेशा 40-50 कहानी की किताबें साथ में रखते हैं। बच्चों को पढ़ने के लिए प्रेरित करते हुए किताबें देते हैं। बच्चे किताब पढ़ने के बाद हमें लौटा देते हैं। इस तरह अरविंद सर की मोबाइल लाइब्रेरी बच्चों को पढ़ने के लिए प्रेरित कर रही है